MAIN QUOTE$quote=Steve Jobs

MAIN QUOTE$quote=Steve Jobs

यूपी: देर रात हिस्ट्रीशीटर को दबोचने गई टीम पर बदमाशों ने बरसाईं गोलियां, सीओ समित आठ पुलिसकर्मी हुऐ शहीद {Attack On Kanpur Police}

यूपी: देर रात हिस्ट्रीशीटर को दबोचने गई टीम पर बदमाशों ने बरसाईं गोलियां, सीओ समित आठ पुलिसकर्मी हुऐ शहीद


कानपुर में देर रात शातिर बदमाशों को पकड़ने गई पुलिस टीम पर ताबड़तोड़ फायरिंग में आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गये।  एडीजी जय नारायण सिंह ने घटना की पुष्टि की है। चार पुलिसकर्मी घायल भी हैं। घटना कानपुर में चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव की है। पुलिस शातिर बदमाश विकास दुबे को पकड़ने गई थी। शहीदों में सीओ बिल्हौर देवेंद्र मिश्रा और एसओ शिवराजपुर महेश यादव भी शामिल हैं।  
 बताया गया है कि विकास और उसके साथियों की फायरिंग में एसओ बिठूर, एक दरोगा समेत कई पुलिसकर्मियों को भी गोली लगी। दो सिपाहियों के पेट में गोली लगी जिन्हें गंभीर हालत में रीजेंसी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस के आलाधिकारी और कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई है। कई सिपाहियों को बेहद गंभीर हालत में रीजेंसी भर्ती कराया गया है और कई पुलिसकर्मी लापता हैं। 
गुरुवार रात करीब साढ़े 12 बजे बिठूर और चौबेपुर पुलिस ने मिलकर विकास दुबे के गांव बिकरू में उसके घर पर दबिश दी। बिठूर एसओ कौशलेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि विकास और उसके 8, 10 साथियों ने पुलिस पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। घर के अंदर और छतों से गोलियां चलाई गईं। 
कई थानों की पुलिस मौके पर 
एसओ कौशलेंद्र के एक गोली जांघ और दूसरी हाथ पर लगी। इसके अलावा सिपाही अजय सेंगर, अजय कश्यप, सिपाही शिवमूरत, दरोगा प्रभाकर पांडेय, होमगार्ड जयराम पटेल समेत सात पुलिसकर्मियों को गोलियां लगीं। सेंगर और शिवमूरत के पेट में गोली लगी। दोनों की हालत गंभीर है। सूचना के बाद कई थानों की फोर्स गांव पहुंची और घायलों को लेकर रीजेंसी अस्पताल लाया गया। 

सूत्रों ने बताया कि जिस तरीके से हमला हुआ, उससे आशंका है कि  बदमाशों को पुलिस की दबिश की भनक मिल गई थी। जिस कारण उन्होंने तैयारी करके पुलिस पर हमला किया। पुलिस ने बताया कि विकास दुबे खूंखार अपराधी है जिस पर 2003 में शिवली थाने में घुसकर तत्कालीन श्रम संविदा बोर्ड के चेयरमैन राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त भाजपा नेता संतोष शुक्ला की हत्या का आरोप लगा था। बाद में वह इस केस से बरी हो गया था। इसके अलावा विकास पर प्रदेश भर में दो दर्जन से ज्यादा गंभीर केस दर्ज हैं।

कानपुर:- चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव में हुआ मौत का तांडव। सीओ बिल्हौर सहित आठ पुलिसकर्मियों की हत्या। रात एक बजे दबिश पर गयी पुलिस टीम पर हुई जमकर फायरिंग। हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे ने साथियो संग की पुलिस पर फायरिंग
Add caption

नृशंस तरीके से की गयी पुलिसकर्मियों की हत्या। तकरीबन 50 की संख्या में दबिश देने पहुंचे थे पुलिसकर्मी। सीओ बिल्हौर के नेतृत्व में हिस्ट्रीशीटर को पकड़ने पहुंचा था सर्किल का फोर्स। मुठभेड़ में शहीद हुए पुलिसकर्मियों के नाम।
👇👇
1- देवेंद्र कुमार मिश्र,सीओ बिल्हौर
2- महेश यादव,एसओ शिवराजपुर 
3- अनूप कुमार,चौकी इंचार्ज मंधना
4- नेबूलाल, सब इंस्पेक्टर शिवराजपुर 
5- सुल्तान सिंह कांस्टेबल थाना चौबेपुर 
6- राहुल ,कांस्टेबल बिठूर 
7- जितेंद्र,कांस्टेबल बिठूर 
8- बबलू कांस्टेबल बिठूर
अन्य 6 पुलिस कर्मी घायल

यूपी डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी का बयान -

हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के खिलाफ धारा 307 के तहत मामला दर्ज किया गया था, पुलिस उसे गिरफ्तार करने गई थी- हितेश चंद्र

जेसीबी को वहां लगा दिया गया जिससे हमारे वाहन बाधित हो गए।  फोर्स के उतरने पर अपराधियों ने गोलियां चलाईं- हितेश चंद्र

जवाबी फायरिंग हुई लेकिन अपराधी ऊंचाई पर थे, इसलिए हमारे 8 लोगों की मौत हो गई- हितेश चंद्र

हमारे लगभग 7 आदमी घायल हो गए।  ऑपरेशन अभी भी जारी है - हितेश चंद्र

 आईजी, एडीजी, एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) को ऑपरेशन की निगरानी के लिए वहां भेजा गया है- हितेश चंद्र

कानपुर से फॉरेंसिक टीम मौके पर थी, लखनऊ से एक विशेषज्ञ टीम भी भेजी जा रही है- हितेश चंद्र

एसटीएफ को तैनात किया गया है।  आईजी- एसटीएफ मौके पर पहुंच रहे हैं- हितेश चंद्र

कानपुर एसटीएफ पहले से ही काम पर है। बड़े पैमाने पर ऑपरेशन चल रहा है- हितेश चंद्र

यह उस ऑपरेशन के सिलसिले में जारी है जिसके लिए टीम पहले स्थान पर गई थी- हितेश चंद्र


यूपी:- कानपुर लाइव अपडेट, एक बदमाश को पुलिस ने मार गिराया। {Attack On Kanpur Police} https://www.ncrhindinews.com/2020/07/Attack%20On%20Kanpur%20Police.2%20.html

डीजीपी एचसी अवस्थी {u.p dgp},

एडीजी जय नारायण सिंह

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां